सांस्कृतिक-ऐतिहासिक स्थल

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — ५

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — ५     अनेगोंडी कर्नाटक के कोप्पल जनपद में तुंगभद्रा नदी के उत्तरी तट पर स्थित है। हरिहर प्रथम ने इसे ही विजयनगर की प्रथम राजधानी बनायी थी। तुंगभद्रा नदी के दक्षिणी तट पर हंपी स्थित था। तालीकोटा के युद्धोपरांत ( १५६५ ई॰ ) दक्कन के ४ मुस्लिम सल्तनत सेनाओं …

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — ५ Read More »

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — ४

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — ४   अजमेर ( अजयमेरु ) वर्तमान में अजमेर राजस्थान में स्थित एक सांस्कृतिक और प्रशासनिक स्थल है। इसकी स्थापना चाह्मान वंशी शासक ‘अजयराज’ ने की थी। इन्हीं के नाम पर इसका नाम अजयमेरु या अजमेर पड़ा है। यह सूफी संत ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती के दरगाह के लिए भी प्रसिद्ध …

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — ४ Read More »

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — ३

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — ३   अखनूर अखनूर वर्तमान केन्द्र शासित प्रांत जम्मू और कश्मीर में स्थित एक जनपद है। सैंधव युगीन माण्डा नामक स्थान यहीं पर स्थित था। माण्डा सैंधव सभ्यता का सबसे उत्तरी स्थल है। यहाँ से प्राक्, विकसित और उत्तरकालीन हड़प्पा अवशेष मिले हैं। उदयगिरि-खण्डगिरि ओडिशा के खोर्धा जनपद में भुवनेश्वर …

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — ३ Read More »

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — २

सांस्कृतिक-ऐतिहासिक स्थल भाग – २   अफसढ़ ( अफसाढ़ ) अफसढ़ बिहार के गया जनपद में है। यहाँ से उत्तर गुप्त वंश के ८वें शासक आदित्यसेन का अभिलेख मिला है। इसमें परवर्ती गुप्त के प्रथम शासक कृष्णगुप्त से लेकर आदित्यसेन तक की वंशावली की जानकारी और इसमें उनके मौखरियों से सम्बंध की जानकारी मिलती है। …

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — २ Read More »

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — १

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — १     अमरावती अमरावती वर्तमान आन्ध्र प्रदेश की प्रस्तावित राजधानी है। यह गुन्टूर जिले में कृष्णा नदी के तट पर स्थित है। इसको सातवाहन नरेश शातकर्णि प्रथम ने अपनी राजधानी बनायी थी। बाद में यह इक्ष्वाकुओं की भी राजधानी रही। यहाँ से सातवाहन युगीन बौद्ध स्तूप के अवशेष मिलते …

सांस्कृतिक और ऐतिहासिक स्थल — १ Read More »